आपकी डॉक्टर बेटी !!

दिन रविवार था, एम्स की परीक्षा देकर मैं Noida मेट्रो में सवार दिल्ली लौट रहा था । खुश था…इसीलिए नहीं की exam बढ़िया गया था ,पर इसीलिए की करीब एक साल बाद घर जा रहा था…माँ के पास । सामने की सीट पर एक बुजुर्ग आदमी बैठे थे… कपडे मटमैले से, बाल बिखरे हुए , जूते तकरीबन फटे-सिले से… आमतौर पर हम पहनावे और बोलचाल देख कर ही सामने वाले के व्यक्तित्व का अंदाजा लगाते है .. कहावत है– ” गरीब आदमी जल्दी बूढ़ा दिखने लगता है ” ..खैर !!

उनकी बेटी भी साथ में ही थी…छोटे से मासूम चेहरे पर , बड़ा सा चश्मा लगाए हुए !! उसकी आँखों में ‘तेज़’ था , ‘तमन्ना’ थी ,‘सपने’ थे जो साफ़ झलक रहे थे ।।  ” Chemistry और G.K के सवाल टफ थे ,पर मैंने कर लिए पापा… अब बस सेलेक्शन के बाद ‘मै आपकी डॉक्टर बेटी बन जाउंगी , फिर सब ठीक हो जायेगा पापा ,हमारा भी ‘अपना घर’ होगा , हम भी खुशी से रहेंगे , मोनू भी ‘अच्छे स्कूल’ में पढ़ेगा ” ।।

पिता की आँखे ऊपर देख रही थी , आँखों में नमी थी ,नाक फूल सी गयी थी ,सास का आदान-प्रदान तेज़ था …शायद दिल की धड़कन  Heartbeat बढ़ गयी होगी  , बाप-बेटी दोनों की आँखे एक समान चमक रही थी….मानो एक-दूसरे का प्रतिबिम्ब हो ।।

कहने को तो ये छोटी-सी पांच मिनट की  Observation थी पर इसका मर्म कुछ और ही है ।।।। “कही न कही हम जुड़े हुए है… “अपने सपनो से…. हमारे अपनों से” , हम क्या करते है ,उसका सीधा प्रभाव हमसे जुड़े हुए लोगो पर पड़ता ही पड़ता है ….. 🙂 

—Nimish 

Aajkal अटल जी की किताबे पढ़ रहा …उनकी ही पंक्तियों के साथ आपको छोड़े जा रहा….

किसने ऐसा दूध पिया ,जो रोके गति तूफानी
यह जीवन का ज्वार ,चली उफनती प्रखर जवानी।
युवक हार जाते है लेकिन यौवन कभी ना हारा
एक निमिष* की बात नही है यह चिर संघर्ष हमारा ।।

निमिष means क्षण Instant . 

EAvxp_OXoAAxaPH

Advertisements

30 thoughts on “आपकी डॉक्टर बेटी !!

  1. Wowww.thanks so much for wrtng ths . everyone says u r the best. Such a good,humble personality u r bhai ji so grounded. thanks again for ur help. Inspiration 😍😍😍😍😍😍

    Liked by 5 people

    1. Nobody say that …only u say so ,almost 3 times a day ,haha .

      I guess U must be busy in ur Coaching and Tests …. plzz study 🙂

      And warning ..Dont become writer …i know many Folks who became writer following me ..almost 10 of them ..And nobody got Selected . U dont do that … its my Side profession not a hobby …

      Liked by 1 person

  2. Bilkul sahi kaha…….hamare sapne sirf hamare nahi…..na jaane kitne logon ke sapne hamare sapno se jude hain…..aur ye ek sapna kitne logo ko hamse jode rahta hai………dil ko chhuti panktiyan………ki garibi insaan ko jaldi buddha banaa deti hai.

    Liked by 2 people

  3. thora bada likh diya hai …still i have no doubts in ur observation skill, Sherlock’s Eye ..Mycroft’s brain 🙂 well done….i see u inspire people ,thats truth

    Liked by 3 people

  4. 👌👌👌सही अभिव्यक्ति है भावनाओं की सर
    बहुत कुछ उम्मीदें जुडी होती हैं अपनों की अपनों से

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s