33 thoughts on “You and Me

    1. Thanks so much boss ….Now 4 hindi poetry 1 english … 4 : 1 ratio …. That would be fine I guess…. Goddess charming laxmi …. Charming is your middle name …😊🌼❤

      Stay safe take care

      Liked by 1 person

  1. Nice rhythm and beautiful anime picture! I suggest you put “side” in bold print to continue the consistency in font you had going. Ah. I love your work. It’s so fresh to read and makes my heart pound ^^ Really transports me into these emotions you are writing about. Thanks for another great post Pranshu!

    Like

  2. वाह।वाह। दिल को सुकून देती बेहद खूबसूरत रचना।
    निराशा में डूबे आशा की किरण।
    !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!
    गोलियों की बौछार,
    रक्तरंजित तलवार,
    बिलखते बच्चे,फटती छाती,
    दिल दहलाती चीख-पुकार संग
    मिटती इंसानियत,विलुप्त होता प्रेम और
    लुप्त होते सपनों को देख,
    कभी ये मत पूछना
    रब कहाँ है,
    वह तो सर्वत्र,सर्वव्यापी है,
    अजन्मा,अविनाशी है,
    कई रूप उसके
    दिख जाएगा तुम्हें भी,
    मगर तब,जब नफरत की जगह प्रेम,
    कड़वे शब्दों की जगह शहदयुक्त शब्द,
    और गुस्से की जगह चेहरे पर मुस्कान आ जाए,
    वह मौन है,सोया नही,कहाँ ढूँढते,खोया नही,
    मत कर अहंकार इतना कि मुस्कुराना मुश्किल,
    दौड़ते रह जाओगे मंदिर,मस्जिद,
    मगर प्रेम नही तो रब का
    मिल पाना
    नामुमकिन।

    Like

    1. ईश्वर कहाँ मिलते है कविता के ऊपर यह टिप्पणी लिखी है ना daddu❤💞🌼😘

      बोहोत आभार 💞

      Like

      1. हाँ भाई। जब लिख दिया फिर पोस्ट करने और नही जा रहा था। फिर सोचा वह तो सर्वत्र है फिर चिंता किस बात की।

        Liked by 1 person

      2. ❤❤❤❤ प्रणाम …

        ये आपका प्रेम ये जज़्बात कितना करीब लाते है

        आपका आशीर्वाद पाकर हम पुनः खिल जाते है💞😊

        Liked by 1 person

  3. स्वागत भाई। वैसे इस पोस्ट का फोटोग्राफ बहुत ही खूबसूरत है और पोस्ट भी।
    *****************
    मेरी आँखें,मेरा दिल,
    तेरी ख्वाहिशों का पुलिंदा,
    मेरा रोम-रोम तेरा,
    मेरी रूह तुझमें जिंदा,
    ये जिंदगी तुम्हारी,तुम से जश्न,जमाना,
    है आरजू खुदा से,हमको ना भूल जाना।
    मैं पोत तुम पयोधि,
    मैं तेरी प्रेम रोगी,
    तुम साथ जब हमारे
    किस बात की मैं सोगी,
    धुन एक लब थिरकते,
    हम खुश अगर तूँ हँसते,
    हस्ती हमारी तुमसे,तुम बिन ये जग फ़साना,
    है आरजू खुदा से,हमको ना भूल जाना,
    है आरजू खुदा से,हमको ना भूल जाना।

    Liked by 1 person

    1. है ना sakshi pal जी के ब्लॉग से चुराई है बिना अनुमति😭😂😁
      कितना बढ़िया लिखा है …इसे ब्लॉग में डालिये .. 💚🌼
      प्रणाम …दादा सब कब ठीक होगा …रोज 20000 केस आ रहे😔😑

      Like

      1. चोरी भी जरूरी है कोरोना को छोड़कर। पता नही क्या होगा। बचना जरूरी है,बच पाना मुश्किल। कोरोनिल खाईये।बाबा वाला।😊

        Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.