अनपढ़ प्रेमी

मेरी परदादी के दाहिने हाथ में एक tatoo था परदादा के नाम का ...वे पढ़ी लिखी नहीं थी पर मुझे याद बचपन में पूछने पर बताती थी ये बाबा का नाम है ❤😃✨  प्रेम में , अनपढ़ भी गुदवा लेते है ; अपने प्रेमी-प्रेमिका का नाम , दाहिनें हाथ या बाजूं पीठ पर ; और [...]

ऐसा जीवन जी जाना!!!

जब बसन्त की बहार है तो पतझड़ का क्यों सोचना जब बारिश की धार है तो सूखा मन क्यों रखना जब मिलता मां का साथ है तो विपत्तियों से मत डरना जब पंछी भरे उड़ान है तो सिर झुकाकर मत रहना जब सबका वो ही पालनहार है तो ऊच नीच क्यों करना जब कु कु [...]